Uttarakhand Latest Update: मेट्रो नियो के लिए ओडीपीआर तैयार  

जल्द मिलेगी उत्तराखण्ड को मेट्रो नियो की सौगात जेब पर भी भारी नहीं होगा यातायात

Uttarakhand Latest Update:  देहरादून में पहले मेट्रो, फिर रोपवे की योजना मट्टटी पलित होने के बाद,अब मेट्रो नियो चलाने की तैयारी पूरी कर ली गई है। जिसकी डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट  डीपीआर उत्तराखंड मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने तैयार कर ली है। दरअसल, उत्तराखंड मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के प्रस्ताव पर सरकार ने सबसे पहले देहरादून, ऋषिकेश और हरिद्वार को 2017 में मेट्रोपॉलिटन क्षेत्र घोषित किया। इसके बाद देहरादून में दो कॉरिडोर में मेट्रो चलाने के लिए सर्वे किया गया। जिसके दूसरे चरण में हरिद्वार-ऋषिकेश को रखा गया । लेकिन बाद में योजना बदली और यहां रोपवे चलाने पर चर्चा हुई। जिस पर केंद्र सरकार ने छोटे शहरों में मेट्रो नियो चलाने की बात कही।

 

Uttarakhand Latest Update

Uttarakhand Latest Update : मेट्रो नियो के काम में तेजी

शहरी विकास विभाग की समीक्षा बैठक में यूकेएमआरसी के एमडी जितेंद्र त्यागी ने बताया कि नियो मेट्रो की डीपीआर तैयार हो चुकी है। 13 अप्रैल को मुख्य सचिव की अध्यक्षता में बोर्ड बैठक होगी, जिसमें ये प्रस्ताव रखा जाएगा। मेट्रो नियो 2051 तक ट्रैफिक लोड ले सकेगी। शहरी विकास मंत्री बंशीधर भगत ने कहा कि लंबे समय से इस दिशा में केवल सर्वेक्षण आदि के काम चल रहे हैं। लिहाजा, मेट्रो नियो के काम में तेजी लाई जाएगी,

read more: बंगाल में 44 विधानसभा सीटों पर मतदान,हिंसा की खबरें आयी सामने !

Uttarakhand Latest Update : अब बताते है आपको क्या है खासियत मेट्रो नियो में –

– कोच स्टील या एल्युमिनियम के बने होंगे।

-इसमें पावर बैकअप होगा ज्यादा ,बिजली जाने पर भी ट्रेन 20 किमी चल सकेगी।

– सामान्य सड़क के किनारों पर दीवार बनाकर ट्रैक तैयार किया जा सकेगा।

– इसमें स्पीड लिमिट भी नियंत्रण में रहेगी।

– इसमें टिकट का सिस्टम क्यू आर कोड या सामान्य मोबिलिटी कार्ड से होगा।

-यात्रियों को सस्ते सफर की सौगात भी मिलेगी

Uttarakhand Latest Update : जनता को सौगात का इंतजार

आपको बता दे मेट्रो नियो या मेट्रो लाइट के लिए 200 करोड़ तक का ही खर्च आता है। चूंकि इसमें कम लागत आएगी, इसलिए इसमें यात्रियों को सस्ते सफर की सौगात भी मिलेगी। इसमें यात्रियों की क्षमता सामान्य मेट्रो से कम होगी, इसके लिए सड़क से अलग एक डेडिकेटेड कॉरिडोर तैयार किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button