Bengal Election : भाजपा नेता पर हुआ हमला तो मुस्लिम महिला ने अपने घर में शरण देकर बचायी जान

Bengal Election

Bengal Election : जबसे बंगाल चुनाव का शंखनाथ हुआ है और जब से वहां चुनावी गर्मी बड़ी है तब से ही भाजपा के नेताओं ने हिन्दुत्व और हिंदु-मुस्लिम का मुद्दा उठाने में कोई कसर नहीं छोडी है। लेकिन आज बंगाल में एक ऐसा किस्सा हुआ, जिससे लोग सोशल मीडिया पर भाजपा के नेताओं को कुछ सीख लेने की सलाह दे रहे हैं। दरअसल, पश्चिम बंगाल के केशपुर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा उम्मीदवार प्रीतिश रंजन के वाहन पर गुरुवार यानी आज हमला कर दिया गया। कार में प्रीतीश के अलावा बीजेपी नेता तन्मय घोष सहित सात लोग सवार थे। इस बीच प्रीतिश रंजन ने खुद बताया है कि किस तरह एक मुस्लिम महिला ने उन लोगों को घर में छिपाकर जान बचाई।

भाजपा ने टीएमसी पर लगाया आरोप

Bengal Election : भाजपा ने आरोप लगाया है कि यह हमला टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने किया है। पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।

क्या कहा प्रीतिश रंजन ने

Bengal Election : प्रीतिश रंजन ने एएनआई से बात करते हुए कहा, ”मैं एक बूथ पर जा रहा था। हमारी कार के आगे पुलिस की QRT थी और पीछे लोकल मीडिया। जब हम वहां पहुंचे तो वहां तृणमूल कांग्रेस के गुंडे थे। मेरे सुरक्षाकर्मी मुझे कार तक ले गए, जहां गुडों ने ईंट और लाठियों से हमला कर दिया।” उन्होंने भी कहा कि उन लोगों के लिए जान बचाना मुश्किल हो गया था।

महिला ने हमे बचाया और हमारा ध्यान रखा – प्रीतिश रंजन

Bengal Election : हमले को खौफनाक बताते हुए प्रीतिश ने कहा, ”हमारी कार में सात लोग थे और सभी पर हमला हुआ। सुरक्षाकर्मी मौजूद थे, लेकिन वे असहाय थे। हम अपनी जिंदगी बचाने के लिए रो रहे थे। हम लोग वहां से भागकर अल्पसंख्यक महिला के घर में घुस गए, जिसने हमें बचाया और हमारा ध्यान रखा।”

Also read : हल्द्वानी में महिलाओं ने शराब की दुकान खुलने के विरोध में किया जोरदार प्रदर्शन

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button